In the times of Rowling’s Harry Potter let’s take a turn to Khurja’s Potters

चिमनियों के शहर में खुर्जा से दोबारा वास्ता बना था करीब डेढ़ दशक बाद। पहली बार जब देखा तो सिर्फ शॉपिंग के अड्डे के तौर पर, जहां से सस्ते में ढेरों सामान खरीद लायी थी – सेरेमिक पॉट्स से लेकर सूप बोल्स, प्लेटें, कॉफी मग, कप, टी-पॉट और भी जाने क्या-क्या। फिर वक़्त की बेरहमी…

Chambal beckons the real traveller in you

चंबल की घाटियां बुला रही हैं तुम्हें!   जनवरी की उस दोपहर चंबल की वीरानी को तोड़ने के लिए जाने कहां-कहां से दौड़ती-भागती कार-जीपें और हर आकार-रंग की एसयूवी गुबार उड़ाती हुई एक-दूसरे को पीछे छोड़ने में जुटी थी। मिट्टी के टीलों से घिरी सड़कों पर एक से एक रंगीन कारों का कारवां कहीं फर्राटा…