Following Buddha in Chhattisgarh

छत्तीसगढ़ में मैंने खुद को एलिस इन वंडरलैंड की तरह महसूस किया। रायपुर के स्वामी विवेकानंद हवाईअड्डे पर उतरते ही पहला झटका लगा, इतना आधुनिक, चकाचैंध वाला एयरपोर्ट और वो भी छत्तीसगढ़ में! उड़ान उतरने के महज 5 मिनट के भीतर मैं अपने हल्के-फुल्के बैगेज के साथ एयरपोर्ट की आखिरी हद को अलविदा कह रही थी…

Chhattisgarh – celebration of art and Culture छत्तीसगढ़ – लीक से हटकर पर्यटन

बर्तोलिन ने एक दफा कहा था, जो सहज उपलब्ध है, वही बिकता है। शायद यही वजह रही होगी कि गोवा, मुंबई, राजस्थान जैसे ठौर—ठिकाने ट्रैवल जगत का हिस्सा कभी का बन चुके हैं जबकि सुदूर में सजी पूर्वोत्तर राज्यों की मणियां हों या लद्दाख का दुर्गम इलाका अथवा छत्तीसगढ़ जैसा ट्राइबल आबादी की पारंपरिक सुगंध…