Want to sing winter symphony, head to Kashmir!

कश्मीर है फिर से मेज़बानी के लिए तैयार, गुलमर्ग ने भेजा है बुलावा श्रीनगर हवाईअड्डे तक पहुंचने की जद्दोजहद के बीच भी मुझे एक अदद कांगड़ी खरीदने की सुध थी। दरअसल, लंबे इंतज़ार और बेताबियों के बाद बीते हफ्ते ठीक उस रोज़ सुबह से ही हल्का हिमपात गुलमर्ग में शुरू हो गया था जब मुझे…

Moghul Road – Highway to Heaven

मुगल दौर की पदचाप को आज भी सीने में समेटे है मुगल रोड आसपास धुंध थी, और पूरे माहौल में एक असहज चुप्पी पसरी हुई थी। सिर्फ हमारे दिल की धड़कनों का शोर उस चुप्पी को भंग कर रहा था। सहमना क्या होता है, इसका अहसास उस रोज़ मुझे बखूबी हुआ था …. और ठीक…

Kashmir Railway – whistling beyond Pir Panjal !

कश्‍मीर घाटी में  दिलों की दूरियों को पाटती रिश्‍तों की रेल  जम्‍मू डिवीज़न में बनिहाल की उलफत और बारामूला के मलिक शाहनावाज़ के बीच रिश्‍ते का एक सिरा डोगरा महाराजा प्रताप सिंह से जुड़ा है। है न हैरत की बात कि महाराजा प्रताप सिंह ने जम्‍मू से श्रीनगर तक रेल लाइन बिछाने का जो ख्‍वाब…