In the land of Mt Khangchendzonga

कंचनजंगा और आर्किड के देश में सिक्किम में वो मेरा पहला दिन था और दीवार पर परम शांत-सौम्य मुद्रा में दिखे बुद्ध जैसे कह रहे थे कि अगले कुछ दिन परम शांति में बीतेंगे। राजधानी गैंगटोक की सड़कों पर ट्रैफिक की अफरातफरी तो यों भी नहीं थी और उस सड़क किनारे खड़ी किसी दीवार पर…