From the little Himalayan secret called Andretta to the magical world of Palpung Sherabling

एंड्रैटा गांव के अजब संसार में पालपुंग शेरबलिंग मठ हमारी मंजिल जरूर था लेकिन रास्ता था कि जगह-जगह हमें अटका रहा था। घुमक्कड़ दिल को भी सब्र शायद इसी तरह अटकते-लटकते हुए ही आता है। पालमपुर से यही कोई 16-17 किलोमीटर आगे बढ़ने पर हम हाइवे के दायीं तरफ उभर आए एक छोटे-से गांव की तरफ…

Towards the soaring land and passes of Trans Himalaya – a journey to Lahaul & Spiti

 किन्नौर के परीलोक से कुंजुम—रोहतांग के खौफनाक मंज़र तक! दुनिया की सर्वश्रेष्ठ सड़क यात्राओं में शुमार है शिमला से किन्नौर—स्पीति—लाहुल होते हुए रोहतांग दर्रे के उस पार बसे मनाली तक का सफर। अब सर्वश्रेष्ठ के मायने कुछ भी हो सकते हैं, मगर मैं साफ कर दूं कि मेरे लिए यह आज तक का सबसे ज्यादा…

amitabha nunnery where girls live beyond barriers !

        चीनी कहावत है ’’दस हजार पोथियों से बेहतर है दस हजार कदमों का सफर” (Walking ten thousand miles of the world is better than reading ten thousand scrolls.) और यही इस दास्तान-ए-घुमक्कड़ी की प्रेरणा भी है। हालांकि मुझे नहीं लगता था कि इस बार इतनी जल्दी सफर पर निकल पाऊंगी, नागालैंड…

Ladakh – sujourn on moonland!

थ्री इडियट्स ने लेह की पैंगॉन्‍ग लेक का नज़ारा क्‍या दिखाया कि तमाम टूरिस्‍ट अब लेह का रुख कर रहे हैं। अगर आपने अभी तक इस रैंचो लैंड को नहीं देखा है तो बस इस बार गर्मियों की हीट को बीट करने के लिए लद्दाख को अपनी सैर सपाटे की अगली मंजिल बना लें।  बौद्ध…

Leh-ladakh : Roads to heaven!!

सेब के दरख्त और खुबानी की मिठास लेह में पर्यटन का अहसास नया-नया!! लेह की शुष्‍क हवा को ठेंगा दिखाने के लिए हमारे पास लिप साल्वे की एक शीशी जरूर थी जो होंठो को सूखने से बचाने में तो कारगर थी लेकिन शरीर में भीतर तक घर कर चुकी शुष्‍कता का इलाज कतई नहीं थी।…