Kashmir during Ramzan is special

कश्मीर में एक मौसम रमज़ान का भी होता है माह-ए-रमज़ान हो और कश्मीर की याद न आए, ऐसा मुमकिन नहीं। ज़बरवान पहाड़ी पर उस दिन का सूरज अपनी आखिरी लौ समेटने में जुटा था और दूर एक कोने में नमाज़ियों की कतार उमड़ रही थी। डल पर हौले-हौले बढ़ रही हमारी किश्ती एकाएक रुक गई…

Want to sing winter symphony, head to Kashmir!

कश्मीर है फिर से मेज़बानी के लिए तैयार, गुलमर्ग ने भेजा है बुलावा श्रीनगर हवाईअड्डे तक पहुंचने की जद्दोजहद के बीच भी मुझे एक अदद कांगड़ी खरीदने की सुध थी। दरअसल, लंबे इंतज़ार और बेताबियों के बाद बीते हफ्ते ठीक उस रोज़ सुबह से ही हल्का हिमपात गुलमर्ग में शुरू हो गया था जब मुझे…

Moghul Road – Highway to Heaven

मुगल दौर की पदचाप को आज भी सीने में समेटे है मुगल रोड आसपास धुंध थी, और पूरे माहौल में एक असहज चुप्पी पसरी हुई थी। सिर्फ हमारे दिल की धड़कनों का शोर उस चुप्पी को भंग कर रहा था। सहमना क्या होता है, इसका अहसास उस रोज़ मुझे बखूबी हुआ था …. और ठीक…

Mughal Road – highway to paradise

  बीते साल जम्मू से श्रीनगर जाने के लिए मुगल रोड पकड़ी थी। यह वही सड़क थी जिस पर मुगल बादशाह जहांगीर अपने लाव—लश्कर के साथ लाहौर से कश्मीर आया-जाया करता था। और यहीं इसी सफर में कश्मीर से लाहौर लौटते हुए उसका इंतकाल भी हो गया था। बहरहाल, वो किस्सा फिर कभी। अभी तो…

Kashmir Railway – whistling beyond Pir Panjal !

कश्‍मीर घाटी में  दिलों की दूरियों को पाटती रिश्‍तों की रेल  जम्‍मू डिवीज़न में बनिहाल की उलफत और बारामूला के मलिक शाहनावाज़ के बीच रिश्‍ते का एक सिरा डोगरा महाराजा प्रताप सिंह से जुड़ा है। है न हैरत की बात कि महाराजा प्रताप सिंह ने जम्‍मू से श्रीनगर तक रेल लाइन बिछाने का जो ख्‍वाब…

smart travel ! Is it so, really?

टैक्‍नोलॉजी ने बदला ट्रैवल का समीकरण जीपीएस और गूगल मैप का  षडयंत्र तो देखो,  रास्‍ता भटकने के मज़े से भी महरूम हो गया है नए दौर का नया ट्रैवलर !   पिछले साल गर्मियों में हम जन्‍नत के सफर पर निकले थे। जन्‍नत यानी कश्‍मीर, लेकिन उस सफर ने सैर-सपाटे की हमारी पारंपरिक परिभाषा को…

Postcard from Kashmir – Nature’s Symphony heard loud !

हज़रतबल दरगाह जहां मूए-मकद्दस का दीदार कुछ खास मौकों पर किया जा सकता है  बांडीपोरा जिले में पसरी हुई है एशिया की मीठे पानी की सबसे बड़ी वूलर झील जिसे झेलम से आ रहा प्रवाह जलमग्‍न रखता है। करीब 100 वर्ग मील क्षेत्रफल में फैली इस झील में अब वॉटर स्‍पोर्ट्स की शुरूआत भी हो…

kashmir – paradise reclaimed!

कश्‍मीर के सफर को जन्‍नती सफर का दर्जा मिलता आया है, लेकिन हैरत तो देखिए कि इधर हम जवान हुए, इस जन्‍नत को देखने के काबिल बने तो इसने अपने दरवाजे बाहरी लोगों के लिए बंद कर लिए। पूरे बाइस साल मैंने इस सफर पर निकलने का ख्‍वाब अपनी आंखों में सजाए रखा, कश्‍मीर ने…