On the most treacherous road journey in the world

दुनिया की दुर्गमतम सड़क से मौत के दर्रे का सफर   समुद्रतल से बयालीस सौ मीटर ऊंची झील की परिक्रमा करते हुए कैसे—कैसे ख्याल मन के एक कोने से दूसरे कोने हो लेते हैं और साल के आठ महीने बर्फ की दीवारों में कैद दर्रों को लांघते हुए कैसी परीक्षा देता है आपका जिस्म, इसे…

My Journey to Shiva’s Abode – Kailas Mansarovar (Part III *)

लिपुलेख (16730 फुट) की चढ़ाई नाभिढांग (13,926 फुट) कैंप से सवेरे 3 बजे चल दिए हैं हम, बाहर निकलते ही हल्की चढ़ाई पार कर त्रिलोक अपने घोड़े के साथ हमारे इंतज़ार में खड़ा दिख गया। बिना सोचे-विचारे घोड़े की पीठ पर सवार हो गई हूं, दूसरे यात्री भी ऐसा ही कर रहे थे या कर…

Siachen – Photo essay

सियायिन पर बर्फ पिघलेगी कभी या नहीं, इस सवाल पर पर्यावरणवादियों और रणनीतिकारों की राय फर्क हो सकती है। एक तरफ बर्फ पिघलना चिंता का विषय है तो इस सबसे दुर्गम, सबसे ठंडे, सबसे उंचे युद्धस्‍थल पर पिछले 28 वर्षों से संघर्षरत भारत और पाकिस्‍तान के रिश्‍तों में जमी बर्फ को पिघलाने के लिए भी…