Nanda Rajjaat Yatra – Himalayan Odyssey

नंदादेवी राजजात यात्रा – आस्था का उत्सव आराध्या से पुत्री बनी मां नंदा की मायके से विदाई का सांस्कृतिक जलसा असहाय निर्भयाओं के युग में उत्तराखंड में बेटी के प्रति लाड़-प्यार की बरसों पुरानी सामूहिक परंपरा – नंदादेवी राजजात यात्रा इस मायने में सुकून पहुंचाती है कि समाज में आज भी बहुत कुछ ऐसा बचा…

Knowing a place by its smell, fragrance, feel and sound

  लैंसडाउन में वो नवंबर की महक आज भी याद है। वाकया पूरे 25 बरस पुराना है। यों ही, हां, बस यों ही लैंसडाउन की सड़क पर बढ़ चले थे हम। रोडवेज़ की खटारा बस की उस अदद सवारी को भी भूली नहीं हूं। पूरे दो घंटे का वो सफर, पहाड़ों पर गोल—गोल घूमते हुए,…

Nanda Devi Raj Jat 2014

नंदा देवी राजजात यात्रा 2014 (18 अगस्‍त से 06 सितंबर, 2014) अनजान रास्‍तों का अबूझ सफर कहते हैं वास्‍तविक यात्राएं वही होती हैं जिनके ओर-छोर टूरिस्‍ट मानचित्रों पर कहीं दिखायी नहीं देते और असली ट्रैवलर भी वही है जो रटी-रटायी लीक पर चलने के बजाय किसी नए, अनजान, अनूठे और आश्‍चर्य में डाल देने वाली सड़कों…

Regulation of pilgrimage in Himalayas – Truly Himalayan task

सफर में रहने का सिलसिला जारी है और देश के दूर-दराज के ठिकाने मेरी ‘बकेट लिस्‍ट’ को लगातार बड़ी और भारी बना रहे हैं। इस साल के शुरू प्रयाग में महाकुंभ में डुबकी क्‍या लगायी जैसे आस्‍था का साल शुरू हुआ। अगले दो महीने में ही कैलास मानसरोवर का बुलावा हाथ में आ गया। भारत…

Come closer to Uttrakhand and be a witness to a unique pilgrimage – Nanda Devi Rajjaat Yatra 2013

नंदा देवी राजजात यात्रा 2013 (29 अगस्‍त से 16 सितंबर, 2013) अनजान रास्‍तों का अबूझ सफर कहते हैं वास्‍तविक यात्राएं वही होती हैं जिनके ओर-छोर टूरिस्‍ट मानचित्रों पर कहीं दिखायी नहीं देते और असली ट्रैवलर भी वही है जो रटी-रटायी लीक पर चलने के बजाय किसी नए, अनजान, अनूठे और आश्‍चर्य में डाल देने वाली…