Chambal beckons the real traveller in you

चंबल की घाटियां बुला रही हैं तुम्हें!   जनवरी की उस दोपहर चंबल की वीरानी को तोड़ने के लिए जाने कहां-कहां से दौड़ती-भागती कार-जीपें और हर आकार-रंग की एसयूवी गुबार उड़ाती हुई एक-दूसरे को पीछे छोड़ने में जुटी थी। मिट्टी के टीलों से घिरी सड़कों पर एक से एक रंगीन कारों का कारवां कहीं फर्राटा…

Agra – Beyond Taj

चंबल की घाटियां बुला रही हैं तुम्हें! आगरा कार रैली (31 jan – 01 Feb 2015) से उत्साहित तो थी लेकिन रैली का रूट चंबल की उन बदनाम घाटियों से होकर गुजरेगा जो कभी डाकुओं की बंदूकों और फिरौतियों के चलते थर्राया करती थी, यह मेरी कल्पना में दूर-दूर तक नहीं था। और पहली बार…