Welcome to the land of festivals, get soaked in cultural extravaganza around India

घूमना बेवजह हर किसी को नहीं भाता। कोई एक अदद मंजिल, उस मंज़िल तक पहुंचने के लिए उम्दा बहाने का सहारा हो तो घुमक्कड़ी को जैसे सहारा मिल जाता है। आप भी इसी श्रेणी के सैलानी हैं तो बस कमर कस लीजिए क्योंकि अगले कुछ महीने मौसम की शय आपको बार-बार ऐसे बहाने थमाएगी। आइये…

Glimpses of Himalayan heritage by train

Book Review – “The Kangra Valley Train” by Niyogi Books ‘द कांगड़ा वैली ट्रेन’  लेखिका — प्रेमला घोष | प्रकाशन — नियोगी बुक्स | कीमत — 795/रु | श्रेणी — यात्रा लेखन | पन्ने – 135 जो असल वाली यात्राएं नहीं करते या नहीं कर सकते वो भी ‘आर्मचेयर’ यात्री तो बन ही सकते हैं। और अगर उनके लिए…

Ayodhya – then and now

अयोध्या में 30 घंटे अयोध्या का जिक्र इससे पहले मेरी यात्राओं में कभी नहीं हुआ है। अयोध्या के नाम ही के साथ जो भारी-सा परिप्रेक्ष्य जुड़ गया है, बिन जाने, बिन देखे ही जो सैंकड़ों किस्म की धारणाएं बन गई हैं, या देखने-जानने के बाद जो समझ पैदा हो गई है, विवाद खड़े हो गए…

Discovering the other side of ‘Bombay’

बेचैन शहर के सीने में सुकून की लकीरों को पकड़ना फोर्ट से बांद्रा के होली फैमिली अस्पताल तक काली-पीली टैक्सी की सवारी तय की। बारिश से नहायी, भीगती-भागती सड़कों पर टैक्सी दौड़ रही थी, मैंने आजू-बाजू की खिड़कियां खोल रखी थीं .. ताकि फोर्ट की गोदी में भरे पानी की भाप ने जिन बूंदों का…

Pursuing monsoon, chai and happiness in Darjeeling

दार्जिलिंग — चाय और विरासत के नाम एक सफर लेबॉन्ग घाटी में उतरते हुए उस दिन का ढलता सूरज साथ था। घाटी के उस पार की पहाड़ियों के कंधों पर बादल टंग चुके थे और सूरज किसी तरह अपनी हस्ती को संभाले था। एक फीकी-सी केसरिया लपट से आसमान को रंगने की फिज़ूल कोशिश में…

India’s rich biodiversity hotspots are inviting, where are you?

भारत के नेशनल पार्क  आज मैं आपको ले चलती हूं कुछ प्रमुख नेशनल पार्कों की तरफ जहां वाइल्डलाइफ प्रेमी होने के नाते जाने का बहाना जरूर निकालना चाहिए: 1. जिम काॅर्बेट नेशनल पार्क – यह प्रोजेक्ट टाइगर रिज़र्व तथा भारत का पहला नेशनल पार्क है। 1936 में हेली नेशनल पार्क के तौर पर स्थापित  कॉर्बेट…

Love slow travel, plan a journey aboard Darjeeling Himalayan Railway

Experience the the grandeur of heritage railway यात्राएं आधुनिक जीवन में जरूरी-सी बनती जा रही हैं। बिज़नेस ट्रिप हो या सैर-सपाटे के नाम पर अक्सर हड़बड़ी वाला सफर आपको सस्ती एयरलाइंस की तरफ मोड़ देता है। घंटे-दो घंटे में अपने शहर से दूर, किसी दूसरी ही फिज़ा में पहुंचना तत्काल सुकून बेशक देता है लेकिन तुरत-फुरत…