A pilgrimage under the shadow of dragon

नई नहीं है कैलास-मानसरोवर तीर्थयात्रियों के साथ चीन की बदसलूकी! तिब्बत में भोजन से लेकर शौचालय की बदइंतज़ामी करती है कैलास-मानसरोवर यात्रियों को शर्मसार तीर्थयात्राओं में बदइंतज़ामी तो सुनी थी मगर बदसलूकी? पश्चिमी तिब्बत स्थित कैलास पर्वत और मानसरोवर की परिक्रमा के लिए भारत से जाने वाले आस्थावानों की भावनाओं के साथ चीन शुरू से खिलवाड़…

Who Can Go for Kailas-Mansarovar Yatra

कौन कर सकता है कैलास-मानसरोवर यात्रा तिब्बत में खड़े कैलास पर्वत, जिसे सुमेरू या मेरू पर्वत भी कहा जाता है, के दर्शन का पहली बार ख्याल जब आया था तब मैं अठारह साल की हुई भर थी। नवभारत टाइम्स में विदेश मंत्रालय का बड़ा सा विज्ञापन छपा था जिसमें भारत और चीन सरकारों के बीच…

So, you want to go to #Kailas #Mansarovar in #Tibet?

All you should know before applying for #KMY2016 Last date for online application – 20 April. 2016 उम्र का चालीसवां वसंत पार करते-करते तिब्बत में ट्रांस हिमालयन हिंदू तीर्थ कैलास मानसरोवर की यात्रा कर लेने का जुनून मुझ पर हावी हो चुका था। जानकारी के नाम पर बस इतना पता था कि लंबी, थका देने…

Computerized draw of lots for selection of Yatris for the Kailash Manasarovar Yatra – 2015

कैलास मानसरोवर 2015 यात्रा का कंप्यूटराइज़्ड ड्रॉ आज संपन्न 1330 यात्री इस यात्रा सीज़न में जाएंगे शिवधाम  नई दिल्ली, 20 अप्रैल, 2015 : पश्चिमी तिब्बत में हिंदुओं के पवित्रतम तीर्थस्थल कैलास-मानसरोवर जाने के इच्छुक तीर्थयात्रियों के भाग्य का फैसला आज यहां कंप्यूटराइज़्ड ड्रॉ से किया गया। कुल 2500 यात्रियों ने इस बार यात्रा के लिए…

Nirvana at the highest spiritual place on the planet!

शिवधाम की राह हुई आसान Kailash Manasarovar Yatra 2015 To apply online, go to: http://www.mea.gov.in Applications – Entire application process has been made online only. Paper applications will NOT be accepted. Last date to apply online: 10 April, 2015 Eligibility – 18 yrs – 70 yrs/ Indian Passport holder Yatra period – Between 08 June and 09 September (Old route –…

My Journey to Shiva’s Abode – Kailas Mansarovar (Part III *)

लिपुलेख (16730 फुट) की चढ़ाई नाभिढांग (13,926 फुट) कैंप से सवेरे 3 बजे चल दिए हैं हम, बाहर निकलते ही हल्की चढ़ाई पार कर त्रिलोक अपने घोड़े के साथ हमारे इंतज़ार में खड़ा दिख गया। बिना सोचे-विचारे घोड़े की पीठ पर सवार हो गई हूं, दूसरे यात्री भी ऐसा ही कर रहे थे या कर…

My Journey to Shiva’s Abode – Kailas Mansarovar (Part II*)

Gunji (10,370 feet) to Nabhidhang (13,980 feet) via Kalapani (11,800 feet)  गुंजी पर ही कुटी नदी कालापानी से आ रही काली से आकर मिलती है। कुटी आदि कैलास से आ रही है और काली के झगीले पानी में समाने के बाद दोनों अब आगे की राह बढ़ती हैं। इसी कुटी पर बने झूला पुल को पार कर हमें अपने कैंप…