What you should know before travelling into the thin air – winter in Ladakh

सर्दीले दिन-रात और लद्दाख का सफर कैसा होगा जनवरी में लेह का नज़ारा ? क्या ठहरने का ठीक-ठाक मुकाम मिलेगा? मुझ वेजीटेरियन जीव को खाना नसीब होगा? पानी मिलेगा? क्या कड़ाके की शुष्क ठंड हम महानगरों में पले-बड़े जीवों को बर्दाश्त होगी? और क्या लद्दाखी जमीन पर बेरहम सर्द दिन-रात के हिसाब से हम एक्लीमटाइज़…

My journey to a world frozen in time – Ladakh in winter

कुदरत के खेल देखने हों तो बाम-ए-दुनिया (roof of the world) के आसमानी सफर पर जरूर जाना चाहिए। दिल्ली से लेह की सिर्फ एक घंटे बीस मिनट की उड़ान में जरूर सवार होना कभी। आधे घंटे बाद ही पहाड़ों की झलकियां शुरू हो जाती हैं और 40 मिनट बीतते-बीतते आप खिड़की से ऐसे चिपक जाएंगे…

Enjoy a perfect winter break on the Roof of the World!

मुझे मालूम है कि सर्दियों का रोमांस इस बार लद्दाख में महसूस करने की साजिशें कई दिलों में चल रही हैं! लेकिन चिंता बस एक ही है कि जब पारा लुढ़करकर शून्य से दस-बीस डिग्री नीचे गिर जाएगा, जब ठंड उस सर्दी के मौसम की तरह नहीं रह जाएगी जिससे निपटने के हम आदी हैं…

Want to go for Siachen trek? Indian Army does the handholding on glacier walk!

सियाचिन ग्लेश्यिर ट्रैक का ख्वाब आंखों में सजाकर स्नाउट पहुंच ही गई! और हमारा उत्साही कारवां बढ़ चला … हिमानियों के गर्भ से नदियों के जन्म लेने की प्रक्रिया नजदीक से देखनी हो तो स्नाउट से आगे बढ़ चलिए, कैसे कतरा-कतरा बर्फ पिघलकर बूंदों को समेटती हुई एक नदी की काया में बदलती है, यह साक्षात…

Ladakh – sujourn on moonland!

थ्री इडियट्स ने लेह की पैंगॉन्‍ग लेक का नज़ारा क्‍या दिखाया कि तमाम टूरिस्‍ट अब लेह का रुख कर रहे हैं। अगर आपने अभी तक इस रैंचो लैंड को नहीं देखा है तो बस इस बार गर्मियों की हीट को बीट करने के लिए लद्दाख को अपनी सैर सपाटे की अगली मंजिल बना लें।  बौद्ध…

Siachen – Photo essay

सियायिन पर बर्फ पिघलेगी कभी या नहीं, इस सवाल पर पर्यावरणवादियों और रणनीतिकारों की राय फर्क हो सकती है। एक तरफ बर्फ पिघलना चिंता का विषय है तो इस सबसे दुर्गम, सबसे ठंडे, सबसे उंचे युद्धस्‍थल पर पिछले 28 वर्षों से संघर्षरत भारत और पाकिस्‍तान के रिश्‍तों में जमी बर्फ को पिघलाने के लिए भी…

an aerial view of Zanskar near Leh, Ladakh

Being a compulsive traveler, air travels are part of my life now, but it is extremely rare that I look forward to my journeys in those claustrophobic, metal boxes .. barely managing to stretch my limbs and imagination! But, New Delhi to Leh (Ladakh) is an exception and one must be enthusiastic enough to ask…

Leh-ladakh : Roads to heaven!!

सेब के दरख्त और खुबानी की मिठास लेह में पर्यटन का अहसास नया-नया!! लेह की शुष्‍क हवा को ठेंगा दिखाने के लिए हमारे पास लिप साल्वे की एक शीशी जरूर थी जो होंठो को सूखने से बचाने में तो कारगर थी लेकिन शरीर में भीतर तक घर कर चुकी शुष्‍कता का इलाज कतई नहीं थी।…

How to adapt to Ladakh climate/Acclimatisation

लेह है अगर आपकी अगली पर्यटन मंज़िल तो एक्लीमेटाइज़ेशन (दशानुकूलन) को बखूबी जान लें!! ’लेह‘ नाम के साथ एक्लीमेटाइज़ेशन शब्द जैसे आत्मा के स्तर तक पर पिरोया गया है। समुद्र तल से करीब 11,500 फुट की ऊंचाई पर बसे लेह शहर आना हो तो एक्लीमेटाइज़ेशन के बारे में पूरी जानकारी पहले से हासिल करना न सिर्फ…

Siachen trek – Once in a life time opportunity

31 अगस्त, 2011 जिन्दगी जो भी आपकी तरफ उछाले, बस उसे लपककर झोली में ले लो, अवसरों को अक्सर दोबारा एक ही दहलीज़ पर आकर दस्तक देने की आदत नहीं होती! मानसरोवर का अरमान पिछले दस सालों से मन के किसी कोने में छिपा रखा है, लेकिन उसकी जगह इस साल सियाचिन का बर्फानी विस्तार…