Welcome to the land of festivals, get soaked in cultural extravaganza around India

घूमना बेवजह हर किसी को नहीं भाता। कोई एक अदद मंजिल, उस मंज़िल तक पहुंचने के लिए उम्दा बहाने का सहारा हो तो घुमक्कड़ी को जैसे सहारा मिल जाता है। आप भी इसी श्रेणी के सैलानी हैं तो बस कमर कस लीजिए क्योंकि अगले कुछ महीने मौसम की शय आपको बार-बार ऐसे बहाने थमाएगी। आइये जानें देशभर के कोने-कोने में क्या कुछ होने जा रहा है ऐसा जिसे ध्यान में रखकर सैर-सपाटे की भूमिका बनायी जा सकती है।

साहित्योत्सवों / पुस्तक मेलों की धूम रहेगी (Literary / Book festivals)

kumaon-literary-festival-3

# सबसे पहले शुरूआत हो रही है 11 से 15 अक्टूबर तक कुमाऊं लिटरेरी फेस्टिवल KLF के साथ। दिल्ली और आसपास के लिए उत्तराखंड में कॉरबेट नेशनल पार्क वीकेंड गेटअवे की हैसियत से लोकप्रियता हासिल कर चुका है।

और कॉरबेट के जंगलों में साहित्य की गोष्ठियां, चर्चाएं, लेखकों से मुलाकातें खास होंगी। सबसे बड़ी वजह तो यही है कि महज़ अपने दूसरे संस्करण में पहुंचा का मेला अभी जयपुर लिटरेरी फेस्ट की तरह भीड़ का सबब नहीं बना है। साहित्य को चाहिए सुकून और वो अभी उत्तराखंड के पहाड़ों, जंगलों में बाकी है।

देश के कोने-कोने में साहित्य मेले लगने लगे हैं। हालांकि पहले भी साहित्योत्सवों के तंबू गढ़ते थे, पहले भी लेखकों और उनके पाठकों के बीच दूरियां मिटती थीं लेकिन तब उन्हें उंगलियों पर ना जा सकता था। आज देश के कमोबेश हर बड़े और नामी शहर का एक मे14612438_1135361383227612_392508234224407709_oला है। बीते दिनों टाटा लिटरेचर लाइव! द मुंबई लिटफैस्ट के संस्थापक-आयोजक अनिल धारकर ने यह रहस्योद्घाटन किया 2017 के लिटफैस्ट के लिए लेखकों की तलाश उन्होंने 2015 में ही शुरू कर दी थी तो यह इस बात का इशारा था कि कैसे साल भर लगने वाले इन साहित्योत्सवों ने उम्दा लेखकों की मांग बढ़ा दी है।

# इस बार  ‘टाटा लिटरेचर लाइव फेस्टिवल’  (Tata Literature Live!) की महफिलें 17 से 20 नवंबर तक मुंबई के एनसीपीए और पृथ्वी थियेटर में जमेंगी।

 

इंटरनेशनल सेंटर गोवा में हर बार की तरह इस दफा भी गोवा आर्ट्स एंड लिटरेचर फेस्टिवल (Goa Arts & Literary Festival 2016) की मेज़बानी करेगा। यही समय है जब गोवा में उत्सवों की आमद हो चुकी होती, अलबत्ता नए साल के धमाल से पहले गोवा की हवा, उसके सुरूर और मस्ती को इन कम धमाल वाले दिनों में महसूसना एक अलग अनुभव होगा।

नई दिल्ली विश्व पुस्तक मेला (World Book Fair 2017)

7 – 15 जनवरी,2017 @प्रगति मैदान

फिल्मोत्सव (Film Festivals)

गोवा में 20 से 28 नवंबर के दौरान सिनेमा का जादू लोगों के सिर चढ़कर बोलेगा। मौका है 47वें भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव International Film Festival of India (IFFI2016)  का जो पिछले कई सालों से पणजी में आयोजित किया जा रहा है। मांडवी का तट होगा, गोवा का सुरमई रंग होगा और साथ ही होंगी दुनियाभर से आयी ढेरों दिलचस्प फिल्मों का पिटारा। फिल्मों के दीवानों के लिए इससे बेहतर मौका देश में शायद ही कोई दूसरा होता है। भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव स्वतंत्र रूप से बनने वाली फिल्मों और इंटरनेशनल प्रोडक्शंस को प्रदर्शित करने वाला प्रमुख सिनेमाई मेला बनता जा रहा है और साथ ही इसने कई अंतरराष्ट्रीय खरीदारों/विक्रेताओं के साथ तालमेल बनाकर एक मजबूत फिल्म मार्केट भी तैयार किया है।

फिल्म महोत्सव के लिए delegate registration (Registrations open at the following link) 3 अक्टूबर से शुरू हो चुका है। 9 दिनों तक चलने वाले इस मेले में भाग लेने के लिए आज ही अपना रजिस्ट्रेशन करा लें।

धार्मिक / सांस्कृतिक उत्सव (Religious /Cultural festival)

 

बटेश्वर पशु मेला (Bateshwar cattle fair)

बटेश्वर पशु मेला 26 अक्टूबर से शुरू हो रहा है और अगले तीन हफ्तों के लिए जारी रहेगा।

14610913_10211134607067855_8317820059164593656_n

Bateshwar cattle fair (Image coutesy-UP Tourism)

संगाई उत्सव मणिपुर (Sangai Festival Manipur)

21 – 30 नवंबर, 2016

ras

Manipuri, one of the 4 classical dance forms in India, in its highest form, as worship of Radha and Krishna (Image – Manipur Tourism)

हॉर्नबिल फैस्टिवल (Hornbill festival)
1 – 10 दिसंबर, किसामा विलेज, कोहिमा नागालैंड 

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s