एक सफर .. चाय की शान में ..

 

About Tea-Coffee trails –

This series is specially planned for all those tea-coffee connoisseurs out there who want to experience these beverages in a unique setting and at the same time want to learn some facts behind the art of tea growing, brewing and of-course serving! stay tuned to know more about our interesting tradition of tea-coffee drinking and of course confessions of a drinker!

 

मुझे लगता है लग्ज़री से मेरा पुराना बैर है, इसीलिए Khyber Himalayan Resort & Spa (http://khyberhotels.com/ ) के निमंत्रण से बहुत उत्साहित नहीं थी। अलबत्ता, सर्दीली कश्मीर में चंद रातें गुज़ारने का वो बहाना बुरा भी नहीं था। व्हाइट कश्मीर पहले भी मेरे हिस्से आया था मगर वो गुलमर्ग की बर्फीली ढलानों पर स्कींग का अनुभव था। यानी रफ-टफ, सुकूं से परे वाली कश्मीरी सर्दी। इस बार एकदम 180 डिग्री उलट था मामला – लग्ज़री की मिसाल के तौर पर गिने जाने वाले Khyber Himalayan Resort & Spa के साथ कश्मीर को जीने का पैगाम।

सफर का रास्ता वही, मंजिल वही मगर अंदाज़ एकदम जुदा।

The Khyber Himalayan Resort & Spa, Gulmarg

”Khyber” in winter / Image courtesy – The Khyber Himalayan Resort & Spa, Gulmarg

कश्मीर की सर्दी में सबसे ज्यादा वक़्त जानते हैं किसके साथ गुज़रता है? अपने इस तीसरे सफर में मुझे पूरा यकीन हो गया था कि चाय के साथ मेरा याराना ही दरअसल, सर्दी के साथ मेरे इश्क का सबब है।

पीर-पंजाल की बर्फ ढकी पहाड़ियों को ताकते हुए ठंड की सिहरन से निपटने का इंतज़ाम है चाय-काहवा या कॉफी की चुस्कियां। कश्मीर में शराबबंदी है, हुजूर.. इसीलिए

IMG_20150111_092838

लिहाज़ा, ज्यादा वक़्त हमने गुज़ारा ”चायकश” ( 1 Chaikash menu ) में।

Chaikash- The Tea Lounge-The Khyber Himalayan Resort & Spa

“Chaikash” / Image courtesy – The Khyber Himalayan Resort & Spa, Gulmarg

अगर आप लग्ज़री पसंद करते हैं तो खैबर का स्पा चुनेंगे और मेरी तरह चाय के कद्रदान हैं तो मुड़-मुड़कर चायकश आएंगे।

खैबर का टी-लाउंज है चायकश। कश्मीरी शब्द चायकश यानी चाय की पत्तियों को धीमे-धीमे ब्रू करने की कला।

IMG_20150111_162234

इस टी लाउंज में सिर्फ चाय का शौक ही नहीं फरमाया हमने, बल्कि कश्मीर के चाय प्रेम को भी जाना। ये एंटीक समोवार कश्मीरियों का चाय प्रेम ही तो बयान करते हैं।

IMG_20150111_162125

Chaikash- The Tea Lounge at Khyber

चायकश की शीशे की दीवार के उस पार महीन बर्फबारी के बीच काहवा की चुस्कियां आज भी याद हैं … सुबह-शाम की सैर के बाद किटकटाते बदन को गर्माहट देने के लिए चाय की वो अनगिनत प्यालियां भी कब भूली हैं।

IMG_20150111_163232

और यहीं हमारा परिचय हुआ सिवेट कॉफी से ..यों तो कॉफी के तलबगारों में से हैं हम भी .. मगर सिवेट कॉफी का दाम सुनकर अपनी चाय की दीवानगी ही भली लगती है!

IMG_20150111_162711

चाय बागानों से चाय के प्यालों तक, टी-स्टॉल से टी-लाउंज तक के सफर में मेरे साथ रहिए… अभी कई मंजिलें बाकी हैं। ये तो सिर्फ शुरूआत है।

 

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s