Post card from Kangra Valley – Land of Gods, Kings & Himalaya

कांगड़ा घाटी – टूरिज्‍़म के रटे रटाए मुहावरे से परेImage

इन घाटियों से गुजर जाती है कुछ सड़कें और अठखेलियां करती पटरियां

Image

इस कुहासे की ओट में गुम हैं धौलाधार पर्वतमालाएं

Image

कांगड़ा घाटी में आज भी अपनी हस्‍ती संभाले खड़ा है कांगड़ा किला जो संभवत: पूरे हिमालय क्षेत्र का सबसे बड़ा और सबसे पुराना किला है Image

यह किला प्राचीन राजशाही कटोच वंश का है जिसका जिक्र महाभारत में भी आता है। इस किले की सबसे प्रमुख खूबी यह है कि दिल्‍ली की गद्दी पर सवार लगभग हर शासक ने इस पर कब्‍जा जमाने की कोशिश की थी लेकिन किले की बुलंद दीवारों ने कितने ही शासकों के सपनों को चूर-चूर किया तो कभी बरसों तक विदेशी हमलावरों की कैद में रहा

कांगड़ा के किले से घाटी का बेमिसाल नज़ारा

Image

और मौसम साफ हो तो इस धुंध के पीछे बर्फ से ढकी धौलाधार रेंज भी आपकी आंखों में सज जाती है

Image

और नज़दीक ही है मैकलोडगंज जहां हवाओं में तिब्‍बत की महक सराबोर है –

Image

तिब्‍बती धर्मगुरु का मुख्‍यालय हर वक्‍त विदेशी सैलानियों की चहल-पहल से घिरा रहता है –

Image

मिनी ल्‍हासा यानी धर्मशाला ने तिब्‍बती संस्‍कृति को अगली पीढि़यों के लिए संभालकर रखा है। नॉरबुलिंग्‍का इंस्‍टीट्यूट इस जिम्‍मेदारी को बखूबी संभाल रहा है

Image

Advertisements