Postcard from Kashmir – Nature’s Symphony heard loud !

हज़रतबल दरगाह जहां मूए-मकद्दस का दीदार कुछ खास मौकों पर किया जा सकता है Image

बांडीपोरा जिले में पसरी हुई है एशिया की मीठे पानी की सबसे बड़ी वूलर झील जिसे झेलम से आ रहा प्रवाह जलमग्‍न रखता है। करीब 100 वर्ग मील क्षेत्रफल में फैली इस झील में अब वॉटर स्‍पोर्ट्स की शुरूआत भी हो गई है। वूलर का इकोसिस्‍टम कश्‍मीर की जमीन, अर्थव्‍यवस्‍था और टूरिज्‍़म के लिए वरदान है।

कश्‍मीर और डल लेक जैसे एक दूसरे का पर्याय हैं, श्रीनगर में डल के किनारे-किनारे टूरिज्‍़म का पूरा गणित फैला है। एक तरफ ज़बरवान पहाड़ी और दूसरी तरफ डल झील के बीच से गुजरता है सैलानियों का कारवां। किसी रोमांटिक गीत की तरह गुनगुनाती है डल …

Image

और डल झील पर उतर आयी है एक और शाम। ज़बरवान पहाडि़यों की गोद में रात का तराना गुनगुनाने लगी है डल। कश्तियों ने रफ्तार को अलविदा कहने का मन बनाया और जैसे हर शय रात की बांहों में पसर जाने को बेताब है –

Image

आ अब लौट चलें वहां जहां से निकले थे आज इस सफर पर

Image

और रात ने मुस्‍कुराकर जिंदगी से हौले से कुछ कहा ….

Image

सुबह-सवेरे जब जगती है डल तो जिंदगी कुछ ऐसे निकल पड़ती है टहलकदमी करती हुई –

Image

झील में सैर के साथ शॉपिंग भी हो जाए ज़रा

 

हाउसबोट में है ठाट-बाट का पूरा इंतजाम, फिर कहीं और क्‍यों रूका जाए

Image

हाउसबोट में भी शौक का आलम हो ये तो क्‍या कहिए …

Image

हाउसबोट पर रात बिताने का निमंत्रण देता ये कश्‍मीरी बैडरूम

 

Image

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s